सिर में दर्द :-संसार में कोई भी व्यक्ति ऐसा नही होगा जिसके सर में कभी भी दर्द न होवा हो.

सिर का दर्द कोई बीमारी नही है बल्कि बीमारी का लक्षण (Symptom) है

यह बताता है की शरीर के किसी भाग या नाडी के सामान्य कार्य में गड़बड़ है |

आइये जानते है सिर दर्द क्यों होता है  :-

  • मस्तिष्क हमारे शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है |
  • इसके खोल को हम खोपड़ी (Skull) कहते है |
  • इस खोल में कुछ धमनिया और शिराय ऐसी है जो पीड़ा के प्रति संवदेनशील है |
  • खोपड़ी के चारो और के बहुत से ऊतक (Tissues) भी पीड़ा के प्रति संवदेनशील होते है :

 जब भी इन संरचनाओ (शिराओ ,धमनियों और ऊतको ) को किसी भी प्रकार का अघात या झटका लगता है

तो सिर दर्द होता है |

                               दर्द के प्रति  संवदेनशील इन  सरंचनाओं पर बहुत सी बातो का प्रभाव पड़ता है | जब कभी दांत , नाक, कान,आंख या मांसपेसियो पर चोट लग जाती है तो इन में होने वाला दर्द मस्तिष्क की इन संरचनाओ तक फ़ैल सकता है,जिससे सिर दर्द हो सकता है |

यदि सर के पास और गर्दन के उपर की मांसपेसियो में किसी भी कारण से

सिकुडन पैदा हो जाती है ,तो सिर दर्द होसकता है |

See More Click Here

  •  सिर पर चोट लगना ,
  • अधिक भूख ,
  • द्रष्टि का कमजोर होना ,
  • बुखार आदि ऐसे कारण है जिस से सिर दर्द हो सकता है |

सिर दर्द अधिक समय तक रहता है तो हमें इसकी उपेक्षा नही करनी चाहिये

तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिये |

“धन्यवाद “

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.