समस्त जीवो में मानव एक ऐसा प्राणी है जो अपने मन के विचारो को आवाज द्वारा एक –दुसरे  को भली भांति बता सकता है | वः धीरे-धीरे और जोर-जोर से बोल सकता है |

क्या आप जानते है की आवाज कैसे पैदा होती है आइये समझने की कोशिश करते है

  • आवाज बनाने के लिये हमारे गले में एक खोखला अंग होता है ,जिसेध्वनी बक्स(SoundBox)कहा जाता है |
  • ये एक स्वास नलिका (Windpipe) का एक उभरा हुवा भाग होता है |
  • इस की दीवारे कार्टिलेज (Cartilage) की बनी होती है , कार्टिलेज बहुत ही मुलायम हड्डी जैसा होता है इसी से हमारे बाहरी कान भी बने है |
  • इस के अन्दर एक म्यूकस झिल्ली होती है |
  • इस के दोनों और दो वोकल कार्ड (Vocal Chords) होती है |
  • हर एक कार्ड की गति 16 मांसपेशियों द्वारा नियत्रित होती है |
  • इन्ही मांसपेशियों के द्वारा  वोकल कार्ड में ढीलापन या तनाव पैदा होता रहता है |
  • फेफड़ो से मुंह में आने वाली हवा जब वोकल कार्ड से गुजरती है तो ये कम्पन करने लगते है |

                  इन्ही कम्पनो की वजह से आवाज पैदा होती है |

“इतना ही नही हमारी छाती , पेट, जीभ ,होठ ,दांत का भी आवाज पैदा करने में योगदान होता है |”

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.